धनक से पूछें

रिटायरमेंट के लिए चाहिए कितनी रक़म?

रिटायरमेंट के बाद की जरूरतों के लिए सही रक़म कैलकुलेट करने का ये सरल तरीका है

रिटायरमेंट के लिए चाहिए कितनी रक़म?

मेरी उम्र 38 साल है और मैं कॉरपोरेट सेक्‍टर में काम कर रहा हूं . मैं 45 से 50 साल की उम्र में समय से पहले रिटायरमेंट की प्‍लानिंग करना चाहता हूं. ऑनलाइन कई रिटायरमेंट कैलकुलेटर उपलब्‍ध हैं लेकिन मुझे ये कैलकुलेशन काफी ज्‍यादा अंदाजे पर आधारित लगती हैं. उदाहरण के लिए महंगाई और ब्‍याज दर. क्‍या सही रक़म जानने कोई कारगर तरीका है?
-धनक सब्‍सक्राइबर

दुर्भाग्‍य से महंगाई से बचने का कोई तरीका नहीं है. आप कुछ भी कर लें महंगाई आपकी लिविंग कास्‍ट बढ़ाती रहेगी. इस वजह से एक सटीक रिटायरमेंट कॉर्पस पर पहुंचना मुश्किल हो जाता है. आप सिर्फ एक आकलन कर सकते हैं.

रिटायरमेंट के बाद आपको कितनी रक़म की जरूरत होगी ये जानने के लिए आप एक सामान्‍य नियम को फॉलो कर सकते हैं:

स्‍टेप-1: अपना मौजूदा सालाना ख़र्च कैलकुलेट करें
स्‍टेप- 2: रिटायरमेंट तक के अपने सालना ख़र्च में 6% महंगाई जोड़ें
स्‍टेप- 3: इस राशि को आप रिटायरमेंट के बाद के अपने संभवित वर्ष से गुणा करें.

केस स्‍टडी
उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि आपका मासिक खर्च ₹50,000 है. और आप 10 साल में रिटारमेंट प्‍लान कर रहे हैं तो कैलकुलेशन ऐसे होगा:

  • आपका सालाना खर्च ₹6 लाख है (₹50,000x12 माह).
  • 10 साल में आपका सालाना खर्च 6% सालाना महंगाई के साथ बढ़ कर ₹10.74 लाख हो जाएगा.
  • हम मान कर चल रहे हैं कि आप 48 साल की उम्र में रिटायर होंगे और 80 साल की उम्र तक जी‍वित रहेंगे. ऐसे में ₹10.74 लाख को 32 (80-48) से गुणा करें.

ये रक़म होती है ₹3.44 करोड़. एक मोटे अनुमान के हिसाब से रिटायरमेंट के लिए आपको इतनी रक़म की जरूरत होगी. कुल लोग कह सकते हैं कि ये कॉर्पस भी आपके लिए पैसा कमाएगा. लेकिन चीजों को सरल रखने के लिए इस बात को नज़रअंदाज कर देते हैं.

ये भी पढ़िए- अधिकतम रिटर्न कैसे हासिल करूं?

आपको क्‍या करना है
ये रक़म आपको काफ़ी बड़ी लग सकती है, लेकिन अगर आप नियमित तौर पर निवेश करते हैं और अनुशासन बनाए रखते हैं तो ये कॉर्पस तैयार कर सकते हैं.

  • हालांकि, आपको रिटायरमेंट जैसे लंबे समय के गोल को हासिल करने के लिए इक्विटी में निवेश करना होगा.
  • डेट ओरिएंटेड इन्‍वेस्‍टमेंट ऑप्‍शंस जैसे प्रॉविडेंट फ़ंड और फिक्‍स्ड डिपॉजिट इसमें आपकी खास मदद नहीं कर पाएंगे.
  • लंबे समय के रिटर्न और टैक्‍स के लिहाज से भी डेट फ़ंड सही विकल्‍प नहीं है.

जरूरी बात
रिटायरमेंट के बाद भी, कॉर्पस का एक तिहाई इक्विटी में रखें क्‍योंकि इसने लंबे समय में महंगाई को मात देने में सबसे बेहतर विकल्‍प के तौर पर खुद को साबित किया है. बाकी रक़म पूंजी की सुरक्षा के लिए डेट फंड में रखी जानी चाहिए.

देखिए ये वीडियो- आपको अगले 10 साल के लिए कहां निवेश करना चाहिए?

क्या आपके मन में कोई और सवाल है? हमसे पूछिए

धनक साप्ताहिक

बचत और निवेश करने वालों के लिए फ़्री न्यूज़लेटर


दूसरी कैटेगरी