इंश्योरेंस

परिवार पहले

किसी तरह की अनहोनी में आपके न रहने पर टर्म इन्‍श्‍योरेंस परिवार की जरूरतों को पूरा करने में मदद करेगा

परिवार पहले

बड़ा शहर हो या छोटा शहर। कस्‍बा हो या गांव। लाइफ इन्‍श्‍योरेंस के बारे में जानने वाले या इसे खरीदने वाले काफी लोग मिल जाएंगे। लेकिन परिवार के लिए कमाने वाले व्‍यक्ति के न रहने पर परिवार की जरूरतें पूरी करने लायक लाइफ इन्‍श्‍योरेंस कवर खरीदने वाले बहुत कम मिलेंगे। कभी सोचा है ऐसा क्‍यों है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि भारत में अब भी बड़े पैमाने पर लोग लाइफ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान इन्‍श्‍योरेंस के लिए कम और बचत और निवेश के लिए ज्‍यादा खरीदते हैं। लाइफ इन्‍श्‍योरेंस टैक्‍स बचाने के लिए भी खरीदा जाता है। यही वजह है कि पांरपरिक लाइफ इन्‍श्‍योंरेंस प्‍लान देश में बेहद लोकप्रिय है। पारंपरिक लाइफ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान में लाइफ कवर के साथ निवेश का ऑप्‍शन भी मिलता है।

खतरे में रहेगा परिवार


लाइफ इन्‍श्‍योरेंस + निवेश= परिवार का भविष्‍य दांव पर

 परिवार पहले

क्‍या आपको इस बात का अहसास है कि अगर आप ऐसा लाइफ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान खरीद रहे हैं जिसमें इन्‍श्‍योरेंस और निवेश दोनों है तो आप अपने परिवार को खतरे में डाल रहे हैं। आप पूछ सकते हैं। ऐसा कैसे हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्‍योंकि पारंपरिक लाइफ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान न तो आपको परिवार की जरूरत के लायक कवर मुहैया कराता है और न निवेश पर अच्‍छा रिटर्न देता है। अक्‍सर आपको ऐसे लोग मिल जाएंगे, जिनके पास तीन से पांच लाख रुपए या ज्‍यादा से ज्‍यादा 10 लाख रुपए तक का लाइफ इन्‍श्‍योरेंस कवर होगा। अब आप खुद से यह सवाल कर सकते हैं कि अगर आज आपको कुछ हो जाए तो क्‍या इतनी रकम लंबे समय तक आपके परिवार की जरूरतों को पूरा कर पाएगी। इसके अलावा पारंपरिक लाइफ इन्‍श्‍योरेंस प्‍लान काफी महंगे भी होते हैं। अक्‍सर छोटी बचत करने वालों के पास इस पॉलिसी का प्रीमियम चुकाने के बाद बचत के नाम पर कुछ बचता ही नहीं है कि वे अपनी दूसरी जरूरतों के लिए कहीं और रकम निवेश कर सकें।

टर्म इन्‍श्‍योरेंस है आसान विकल्‍प


टर्म इन्‍श्‍योरेंस: कम प्रीमियम + बड़ी रकम का कवर = परिवार को आर्थिक सुरक्षा

 परिवार पहले

ऐसा नहीं है कि परिवार की जरूरतों को पूरा करने लायक लाइफ इन्‍श्‍योरेंस के लिए सस्‍ता विकल्‍प उपलब्‍ध नहीं है। विकल्‍प है। इसका नाम है टर्म इन्‍श्‍योरेंस। लेकिन इसके लिए आपको इन्‍श्‍योरेंस निवेश को अलग करना होगा। टर्म इन्‍श्‍योरेंस किसी तरह की अनहोनी में आपके न रहने पर आपके परिवार को एक तय रकम देता है। और यह काफी सस्‍ता पड़ता है।

आप इसे ऐसे समझ सकते हैं कि एक 35 साल का आदमी अगर 50 लाख रुपए का जीवन बीमा कवर लेता है तो उसे इसके लिए सालाना लगभग 12 हजार रुपए चुकाने होंगे। निश्चित तौर पर एक परिवार के लिए 50 लाख रुपए की रकम ज्‍यादा नही है तो बहुत कम भी नहीं है। और आप अपनी जरूरत के हिसाब से जीवन बीमा कवर को समय समय पर बढ़ा भी सकते हैं। लेकिन टर्म प्‍लान की एक खासियत है। अगर टर्म प्‍लान की अवधि तक आप जीवित रहते हैं तो आपको कुछ नहीं मिलेगा। और शायद यही कारण है कि भारत में टर्म प्‍लान उतने लोकप्रिय नहीं हैं।

सबसे बड़ा सहारा

आज के समय में ज्‍यादातर लोग प्राइवेट सेक्‍टर में काम कर रहे हैं। यहां पर कर्मचारियों को पीएफ के अलावा ऐसी कोई सुविधा नहीं मिलती है जो उनके न रहने पर परिवार को आर्थिक मदद दे सके। इसके अलावा सामाजिक तौर पर भी चीजें बहुत बदल गई हैं। सिंगल फैमिली का जमाना है। महंगाई के इस दौर में कोई चाहे तब भी दूसरे परिवार का पालन पोषण नहीं कर सकता। अगर आप इन सब बातों पर गौर करें और जीवन की अनिश्चितता के बारे में सोचें तो आपके न रहने पर टर्म प्‍लान परिवार के लिए सबसे बड़ा सहारा बन सकता है। कम से कम आर्थिक जरूरतों के लिए तो परिवार को संघर्ष नहीं करना पड़ेगा। और रही बात आपके जीवित रह जाने पर कुछ न मिलने की तो आपका जीवन कम से कम आपके परिवार के लिए अमूल्‍य है। आप हैं तो न तो आपको चिंता करने की जरूरत है और न ही आपके परिवार को।

धनक साप्ताहिक

बचत और निवेश करने वालों के लिए फ़्री न्यूज़लेटर


दूसरी कैटेगरी