एन.एफ़.ओ. रिव्यू

आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड NFO: क्या आपको निवेश करना चाहिए?

ये क्वांट सेगमेंट में लॉन्च होने वाला 10वां फ़ंड है. इस नए फ़ंड ऑफ़र के बारे में हर ज़रूरी जानकारी यहां पढ़ें.

आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड NFO: क्या आपको निवेश करना चाहिए?AI-generated image

क्वांट स्ट्रैटेजी अपनाने वाले फ़ंड्स ने इंडस्ट्री का ध्यान अपनी ओर खींचा है. इस समय, भारतीय म्यूचुअल फ़ंड इंडस्ट्री में 09 क्वांट स्कीम हैं, जिनमें से 07 स्कीमें 2020 के बाद लॉन्च की गई थीं. आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ म्यूचुअल फ़ंड , जो ₹3.31 लाख करोड़ (मार्च 2024 तक) के एसेट मैनेज करता है, क्वांट सेगमेंट में एंट्री करने वाला 10वां फ़ंड है. आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड 10 जून 2024 को निवेशकों के लिए खोला गया और 24 जून 2024 को इसका सब्सक्रिप्शन बंद हो जाएगा.

फ़ंड की संक्षेप में जानकारी:

NFO के बारे में

फ़ंड का नाम आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड
SEBI कैटेगरी सेक्टोरल/थीमैटिक
NFO पीरियड 10-24 जून, 2024
निवेश का उद्देश्य क्वांट थीम के आधार पर इक्विटी सिक्योरिटीज़ में निवेश करके कैपिटल बढ़ाना
बेंचमार्क निफ़्टी 200 TRI
फ़ंड मैनेजर हरीश कृष्णन और धवल जोशी (विदेशी निवेश के लिए नियुक्त फ़ंड मैनेजर)
एग्ज़िट लोड अगर एलोकेशन की तारीख़ से 90 दिनों के अंदर यूनिट्स को रिडीम किया जाता है, तो 0.50% (लागू NAV का). उसके बाद शून्य.
टैक्स अगर यूनिट्स एक साल बाद बेची जाती हैं तो ₹1 लाख से ज़्यादा के मुनाफ़े पर 10% टैक्स लगेगा. अगर यूनिट्स एक साल के अंदर बेची जाती हैं तो ₹1 लाख से ज़्यादा के मुनाफ़े पर 15% टैक्स लगेगा.

आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड के बारे में

पूरी तरह से इक्विटी फ़ंड्स (अलग-अलग मानदंडों के आधार पर शेयरों में निवेश करने वाले) के उलट, क्वांटिटेटिव (क्वांट) थीम शेयरों को चुनने के लिए अलग-अलग मैथमेटिकल मॉडल का इस्तेमाल करती है. यहां बताया गया है कि आदित्य बिड़ला की नई ओपन-एंड इक्विटी स्कीम अपने पोर्टफ़ोलियो के लिए शेयरों का चयन कैसे करेगी:

  • शेयरों की सूची बनाना: ये देश के टॉप 15 फ़ंड हाउसों के टॉप 75 शेयरों की सूची बनाएगा. इन फ़ंड हाउसों के पास कम से कम पांच साल का ट्रैक रिकॉर्ड और बड़े साइज़ के इक्विटी एसेट होने चाहिए. इसके फ़ंड मॉडल में पैसिव फ़ंड्स, एसेट एलोकेशन फ़ंड्स और डिस्क्रिशनरी मॉडल-आधारित स्टॉक शामिल नहीं होंगे. लार्ज और मिड-कैप पर विशेष ध्यान दिया जाएगा.
  • क्वालिटी और मोमेंटम अनालेसिस: इसके बाद, फ़ंड क्वालिटी फ़ैक्टर (पांच साल का ट्रैक रिकॉर्ड) और मोमेंटम फ़ैक्टर (पिछले छह महीने के रिटर्न की कंसिस्टेंसी) को लागू करेगा और अलग-अलग सेल-साइड एनेलिस्ट द्वारा दिए गए स्कोर का अनालेसिस करेगा. इसमें सेल-साइड एनेलिस्ट द्वारा 'सुझाव में बदलाव' जैसी चीज़ें शामिल होंगी. यह प्रक्रिया फ़ंड को 40-50 स्टॉक चुनने में मदद करेगी.
  • वेट एडजस्टमेंट: शुरू में सभी स्टॉक में बराबर वेट एलोकेट किया जाएगा और फिर इसे कम अस्थिरता के आधार पर एडजस्ट किया जाएगा. कम अस्थिरता वाले स्टॉक को ज़्यादा एक्सपोज़र मिलेगा, जिसमें सबसे ज़्यादा एक्सपोज़र 5 फ़ीसदी तक सीमित रहेगा.

ये भी पढ़िए - क्या गोल्ड बॉन्ड (SGB) में SIP कर सकते हैं?

क्वांट फ़ंड्स का प्रदर्शन

इन फ़ंड्स का एक साल का प्रदर्शन काफ़ी शानदार रहा है, लेकिन किसी फ़ंड का आकलन करने के लिए एक साल का समय बहुत कम होता है.

इसलिए, हमने इनके तीन साल के प्रदर्शन का आकलन किया. (वैसे तो तीन साल भी बहुत लंबा समय नहीं है, लेकिन कम से कम उनकी स्थिरता का आकलन करने के लिए ये काफ़ी है. और चूंकि इनमें से ज़्यादातर फ़ंड्स मार्केट में नए हैं, इसलिए हम उनके लॉन्ग-टर्म प्रदर्शन का आकलन नहीं कर सकते).

अगर इन फ़ंड्स के तीन साल के प्रदर्शन को देखा जाए, तो इनका ट्रैक रिकॉर्ड ख़राब दिखाई देता है. पांच में से सिर्फ़ दो फ़ंड्स ने ब्रॉड मार्केट (BSE 500 TRI) से बेहतर प्रदर्शन किया है. कृपया ध्यान दें: हालांकि इनमें से ज़्यादातर फ़ंड्स का एक और बेंचमार्क है, पर हमने बैरोमीटर के रूप में ब्रॉड मार्केट का इस्तेमाल करने का फ़ैसला किया क्योंकि इन क्वांट-आधारित फ़ंड्स में से ज़्यादातर स्टॉक चुनने के अलग-अलग स्ट्रैटेजी अपनाते हैं.

क्वांट फ़ंड्स का हालिया प्रदर्शन

स्कीम 1 साल का रिटर्न (%) 3 साल का रिटर्न (%)
DSP क्वांट 22.41 11.78
ICICI प्रु क्वांट 36.01 17.31
निप्पॉन इंडिया क्वांट 43.5 22.4
क्वांट क्वांटामेंटल 67.23 33.38
टाटा क्वांट 29.14 13.56
360 ONE क्वांट 60.32 NA
एक्सिस क्वांट 35.61 NA
BSE 500 TRI 36.92 18.55
7 जून 2024 तक का रिटर्न

आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ क्वांट फ़ंड के फ़ंड मैनेजर

हरीश कृष्णन घरेलू एलोकेशन का मैनेजमेंट करेंगे, जबकि धवल जोशी विदेशी निवेश को संभालेंगे.

कृष्णन को एसेट मैनेजमेंट इंडस्ट्री में 20 साल से ज़्यादा का अनुभव है. कोटक म्यूचुअल फ़ंड में 10 साल से भी ज़्यादा समय तक सीनियर फ़ंड मैनेजर के तौर पर काम करने के बाद वे अक्टूबर 2023 में आदित्य बिड़ला सन लाइफ AMC से जुड़े. कोटक में उन्होंने कुछ समय के लिए उनके क्वांट फ़ंड को भी मैनेज किया.

फ़ंड्स जो कोटक म्यूचुअल फ़ंड में हरीश कृष्णन ने मैनेज किए

फ़ंड कैटेगरी अवधि रिटर्न (%) कैटेगरी का औसत रिटर्न (%)
कोटक ब्लूचिप फ़ंड लार्ज कैप 1 जनवरी, 2014 - 30 सितंबर, 2023 15.72 12.92
कोटक इंफ़्रास्ट्रक्चर एंड इकोनॉमिक रिफॉर्म फ़ंड - स्टैंडर्ड प्लान सेक्टोरल-इंफ़्रास्ट्रक्चर 31 जनवरी, 2015 - 30 सितंबर, 2023 14.85 11.9
कोटक इंडिया EQ कॉन्ट्रा फ़ंड वैल्यू ओरिएंटेड 25 अगस्त, 2015 - 31 दिसंबर, 2016 7.41 8.17
कोटक फ़ोकस्ड इक्विटी फ़ंड इक्विटी: फ़्लेक्सी कैप 23 जुलाई, 2019 - 30 सितंबर, 2022 18.3 15.6
कोटक पायनियर फ़ंड थीमेटिक 6 नवंबर, 2019 - 30 सितंबर, 2023 22.88 18.4
कोटक मैन्युफैक्चर इन इंडिया फ़ंड थीमेटिक 3 मार्च, 2022 - 30 सितंबर, 2023 21.6 16.87
कोटक क्वांट फ़ंड थीमेटिक 8 अगस्त, 2023 - 30 सितंबर, 2023 3.04 3.23
नोट: रिटर्न और कैटेगरी के औसत रिटर्न के लिए डायरेक्ट प्लान्स को शामिल किया गया है.

जोशी को इक्विटी रिसर्च और निवेश में 16 साल से ज़्यादा का अनुभव है. आदित्य बिड़ला सन लाइफ़ AMC से जुड़ने से पहले, उन्होंने सुंदरम म्यूचुअल फ़ंड के साथ काम किया था और वे एमके ग्लोबल फ़ाइनेंशियल सर्विसेज़ और असित सी मेहता इन्वेस्टमेंट के साथ रिसर्च अनालिस्ट के तौर पर भी काम कर चुके हैं.

हमारी राय

क्वांट-आधारित फ़ंड्स से बचें, क्योंकि वे थीमैटिक फ़ंड्स हैं. जो लोग नहीं जानते, उन्हें बता दें कि ऐसे फ़ंड्स में बहुत ज़्यादा उतार-चढ़ाव आ सकता है. जैसा कि हमने पहले बताया, क्वांट-आधारित फ़ंड्स का तीन साल का प्रदर्शन भी बहुत अच्छा नहीं रहा है.

इसके अलावा, क्वांट फ़ंड्स के प्रदर्शन का इतिहास लंबा नहीं है. एक जागरुक निवेशक को नए निवेश विकल्पों को छोड़ देना चाहिए. उन्हें किसी भी तरह की राय बनाने से पहले या भरोसा करने से पहले, पूरे मार्केट साइकिल के उतार-चढ़ाव को परख लेना चाहिए.

धनक का लंबे समय से ये मानना रहा है कि फ़्लेक्सी-कैप और मल्टी-कैप जैसे डाइवर्स इक्विटी फ़ंड्स निवेशकों के लिए बेहतर होते हैं.

ये भी पढ़िए - NFO में निवेश से पहले खुद से पूछें ये 3 सवाल


दूसरी कैटेगरी