कौन सा हो आपका पहला म्यूचुअल फ़ंड?

आपका पहला म्‍यूचुअल फ़ंड

म्‍यूचुअल फ़ंड्स, इक्विटी इन्‍वेस्टिंग को आसान बना देते हैं लेकिन एक नए निवेशक के लिए सही फ़ंड चुनना मुश्किल होता है. यहां जानिए कि आप अपना पहला म्यूचुअल फ़ंड कैसे चुनें.

स्‍टेप 1 – म्यूचुअल फ़ंड कैटेगरी चुनें

पहले फ़ंड का चुनाव उतना भी मुश्किल नहीं जितना कहा जाता है. आप भी अपने फ़ंड निवेश की शुरुआत आगे बताए तरीक़े से कर सकते हैं.

केस-1: इक्विटी में नए हैं और टैक्‍स नहीं बचाना है

आप लंबे समय में वेल्‍थ बनाने के लिए अग्रेसिव हाइब्रिड फ़ंड के साथ शुरुआत करें. ये फ़ंड आपके पैसे का बड़ा हिस्‍सा equity में निवेश करते हैं और कुछ हिस्‍सा debt में.

केस-2 इक्विटी निवेश में नए हैं और टैक्‍स बचाना चाहते हैं

इनकम टैक्‍स एक्‍ट के 80C के तहत टैक्स सेविंग फ़ंड से आप एक साल में ₹1.5 लाख तक टैक्स छूट पा सकते हैं. ये ELSS फ़ंड, प्‍योर इक्विटी फ़ंड्स हैं. ध्यान रखें इनमें 3 साल का लॉक-इन होता है.

केस-3 इक्विटी इन्‍वेस्टिंग का अनुभव है और टैक्‍स बचत नहीं चाहिए

अगर इक्विटी निवेश का 4-5 साल का अनुभव है मगर म्‍यूचुअल फ़ंड निवेश में नए हैं, तो फ़्लेक्‍सी-कैप फ़ंड को चुन सकते हैं. ये ELSS की तरह ही होते हैं. इनमें तीन साल का लॉक-इन पीरियड नहीं होता.

अपने लिए सही म्यूचुअल फ़ंड कहां से चुनें

तमाम म्‍यूचुअल फ़ंड ऑप्‍शंस की भूलभुलैय्या में खोने की ज़रूरत नहीं. आप हमारी टॉप रेटिंग वाले म्‍यूचुअल फ़ंड की लिस्‍ट से फ़ंड चुन सकते हैं. विस्तार से पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें.

विस्तार से पढ़ने के लिए

और देखें