Government Bonds

Bank FD से भी ज़्यादा सेफ़ है ये निवेश

सरकारी बॉन्ड

ये ऐसा निवेश है, जिसमें रिटर्न की गारंटी सरकार की होती है. इसे निवेश के सबसे सुरक्षित विकल्पों में से एक माना जाता है और इसमें तयशुदा ब्याज़ मिलता है.

बॉन्ड क्यों जारी करती है सरकार

आमतौर पर सरकार अपने राजकोषीय घाटे को पूरा करने के लिए ये बॉन्ड जारी करती है जिसके ज़रिए निवेशकों से पैसा जुटाया जाता है.

इसमें कौन निवेश कर सकता है?

रिटेल डायरेक्ट गिल्ट (RDG) ख़ाता रखने वाला कोई भी शख़्स इसमें निवेश कर सकता है.

कितना निवेश किया जा सकता है?

प्रति सिक्योरिटी, प्रति ऑक्शन पर कम से कम ₹1000 और ज़्यादा से ज़्यादा ₹2 करोड़ निवेश कर सकते हैं.

कितना रिटर्न पा सकते हैं?

ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपने किस प्रकार के Government Bonds में निवेश किया है. 2032 में मेच्योर होने वाले बॉन्ड का कूपन रेट 6 अप्रैल 2022 में 6.54% था.

क्या इन्वेस्टमेंट की वैल्यू गिर सकती है?

इसका सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि Government Bonds की पूरी ज़िम्मेदारी सरकार लेती है. साथ ही, निवेश के समय ही मिलने वाला ब्याज़ फ़िक्स हो जाता है.

मैच्योरिटी की अवधि

Government Bonds की मेच्योरिटी के लिए आम तौर पर 5 से 10 साल या उससे भी ज़्यादा समय तय होता है.

सेक्शन 80C के तहत कोई लाभ मिल सकता है?

इसमें सेक्शन 80C के तहत कोई टैक्स बेनेफ़िट नहीं मिलता. इसमें रिटर्न/ ब्याज़ को इनकम में जोड़ने के बाद आप पर लागू टैक्स स्लैब के हिसाब से लगता है.

पढ़ने के लिए धन्यवाद!

और देखें