कैसे लगती है आपके म्यूचुअल फ़ंड में सेंध?

फ़ंड मैनेजर की फ़ीस

जैसे आप tax file करने के लिए CA को और घर बनाने के लिए किसी contractor को पैसे देते हैं, उसी तरह फ़ंड मैनेजर भी investment मैनेज करने की फ़ीस लेते हैं.

Expense Ratio क्या है?

अपना इन्वेस्टमेंट मैनेज करने के लिए आप म्यूचुअल फ़ंड कंपनियों को फ़ीस देते हैं, इसे ही एक्सपेंस रेशियो कहते हैं.

Expense Ratio में सभी charge शामिल

एक्सपेंस रेशियो में फ़ंड हाउस का सारा ख़र्च शामिल होता है. ये चार्ज हैं-1. फ़ंड मैनेजमेंट फ़ीस, 2. एजेंट कमीशन, 3. सेल और एडवरटाइज़िंग से जुड़े ख़र्च, आदि.

कितना हो सकता है एक्सपेंस रेशियो?

ध्यान रखें कि equity mutual fund का expense ratio 2.25% से ज़्यादा नहीं हो सकता, जबकि debt fund के मामले में ये 2% से ज़्यादा नहीं हो सकता है.

कैसे पता करें फ़ंड का एक्सपेंस रेशियो

फ़ंड का एक्सपेंस रेशियो आप AMC की वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं या आप धनक वेबसाइट search bar में fund का नाम enter करके आसानी से check कर सकते हैं.

एक्सपेंस रेशियो कैसे कम करें?

फ़ंड दो तरह के होते हैं-'रेगुलर' और 'डायरेक्ट'. 'regular funds' का एक्सपेंस रेशियो 'direct funds' से ज़्यादा होता है. डायरेक्ट प्लान में आप अच्छे returns पा सकते हैं.

और देखें