आधार OTP से 5 स्टेप में Online KYC करें

किसके लिए ज़रूरी है KYC

RBI ने बैंक और वित्तीय संस्थानों के लिए, फ़ाइनेंशियल ट्रांज़ैक्शन करने वाले लोगों की पहचान व पते का वेरिफिकेशन यानी KYC अनिवार्य बना दिया है. इसे आधार कार्ड से किया जा सकता है.

KYC क्यों करना चाहिए?

KYC से आप बैंक को अपनी पहचान, पता और फ़ाइनेंशियल हिस्ट्री बताते हैं. इससे बैंक जान जाता है कि इसमें निवेश किया गया पैसा मनी लॉन्ड्रिंग या किसी अवैध गतिविधि में शामिल नहीं रहा है.

Mutual Fund के लिए KYC ज़रूरी

फ़ंड निवेश के लिए भी KYC ज़रूरी है. हालांकि, हर बार अलग-अलग फ़ंड हाउस में निवेश से पहले KYC कराना ज़रूरी नहीं है. पहली बार निवेश करने से पहले KYC ज़रूरी है.

आधार से ऑनलाइन KYC कैसे करें?

ऑनलाइन KYC करने के दो तरीक़े हैं - आधार OTP और आधार बेस बायोमेट्रिक KYC. आधार OTP से KYC मिनटों में पूरा हो जाता है, हम यहां इसके 5 स्टेप बता रहे हैं.

ऑनलाइन KYC का स्टेप 1

किसी भी KRA (KYC रजिस्ट्रेशन एजेंसी) या फ़ंड हाउस की वेबसाइट पर जाएं (जैसे NDML, CAMS, कार्वी, CVL, NSE).

ऑनलाइन KYC का स्टेप 2

अपने आधार के मुताबिक़ जानकारी एंटर करें

ऑनलाइन KYC का स्टेप 3

आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा गया OTP एंटर कर अपना आवेदन जमा करें

ऑनलाइन KYC का स्टेप 4

UIDAI के साथ वेरिफ़ाई होने के बाद KRA आपके KYC को मंज़ूरी देता है

ऑनलाइन KYC का स्टेप 5

अपने पैन के ज़रिए KRA पोर्टल से आप KYC आवेदन का स्टेटस पता कर सकते हैं

और देखें