पांच साल में कैसे करें अपना निवेश दोगुना?

एक पाठक का सवाल

मैं पांच साल बाद रिटायर हो जाऊंगा. फ़िलहाल, मेरे पास फ़िक्स्ड डिपॉज़िट में बड़ी रक़म है और मैं अगले 5 साल में उस रक़म को दोगुना करना चाहता हूं. इसके लिए मुझे अपना पैसा कहां निवेश करना चाहिए?

ऐसा करना रिस्की हो सकता है

अगर आपके रिटायरमेंट के बाद की ज़रूरतें काफ़ी हद तक निवेश के ज़रिए पूरी होने की उम्मीद है, तो इसके लिए ज़्यादा उतार-चढ़ाव वाले इक्विटी में 100% पैसा एलोकेट करना काफ़ी रिस्की हो सकता है.

ऐसा किया जा सकता है

इक्विटी और डेट के सही कॉम्बिनेशन के साथ आप एक एसेट एलोकेट करने का प्लान बना सकते हैं. 50:50 का इक्विटी-डेट में एलोकेशन ठीक रहेगा. इक्विटी में एक बार में निवेश न करें, अपना पैसा 2-3 साल में फैलाकर लगाएं.

एक तिहाई हिस्सा इक्विटी में निवेश करें

रिटायरमेंट के दौरान महंगाई और एडजस्ट की हुई आमदनी का आनंद लेने के लिए आप अपने पैसे का कम से कम एक तिहाई हिस्सा इक्विटी में निवेश कीजिए. और, अपने कॉर्पस के विड्रॉल को 6% तक ही सीमित रखना है.

रेगुलर इनकम के लिए

अगर आप रिटायरमेंट के दौरान रेगुलर इनकम कमाने के लिए इन पैसों पर निर्भर नहीं हैं, तो आप निवेश 70-75% तक इक्विटी में ट्रांसफ़र कर सकते हैं. फिर भी 15% सालाना रिटर्न की उम्मीद एक नामुमकिन सा लक्ष्य है.

पाठक के सवाल पर एक नज़र

आप 5 साल में अपना निवेश दोगुना करना चाहते है, लेकिन निवेश को दोगुना करने के लिए 5 साल का समय काफ़ी कम है. लक्ष्य पाने के लिए, आपको 15% का सालाना रिटर्न कमाने की ज़रूरत है.

इतने की उम्मीद वाज़िब है

डेट इन्वेस्टमेंट का 6-7% और इक्विटी से 11-12% का औसत रिटर्न मानते हुए, आप 9-10% का सालाना रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं. यानी, अगले पांच साल में आपका कॉर्पस दोगुना नहीं तो 50 से 60% तो बढ़ ही जाएगा.

ज़रूरी बात!

इस लेख का उद्देश्य निवेश की जानकारियां देना है. ये निवेश की सलाह नहीं है.

पूरी कहानी पढ़ने के लिए

यहाँ क्लिक करें