IPO अनालेसिस

Popular Vehicles & Services IPO: क्या इसमें निवेश करना सही होगा?

मारुति सुज़ुकी, टाटा मोटर्स जैसी दिग्गज कंपनियों की ऑटोमोबाइल डीलर पॉपुलर व्हीकल एंड सर्विसेज़ का IPO 12 मार्च 2024 को लॉन्च हुआ है.

Popular Vehicles & Services IPO में निवेश करना क्या सही है?

पॉपुलर व्हीकल एंड सर्विसेज़ भारत में मारुति सुज़ुकी, होंडा कार्स, जैगुआर लैंड रोवर इंडिया, टाटा मोटर्स, पियाजियो और एथर जैसी दिग्गज कंपनियों के लिए एक ऑटोमोबाइल डीलर है. इसने 12 मार्च 2024 को अपना IPO लॉन्च कर दिया है. हम यहां कंपनी की क्षमताओं, कमज़ोरियों और ग्रोथ की संभावनाओं के बारे में बात कर रहे हैं, ताकि आप अपने निवेश का सही फ़ैसला ले सकें.

IPO एक नज़र में

क्वालिटी - इसका इक्विटी पर तीन साल का औसत रिटर्न (ROE) और लगाई गई कैपिटल पर रिटर्न (ROCE) क्रमशः 14.6 और 17.4 फ़ीसदी है.

ग्रोथ - पैसेंजर और कमर्शियल व्हीकल की बढ़ती मांग के चलते ज़्यादा मात्रा के कारण FY2011-23 के दौरान कंपनी के रेवेन्यू और टैक्स के बाद मिलने वाले मुनाफ़े में सालाना 30 और 41 फ़ीसदी की ग्रोथ हुई है. इसी पीरिअड के दौरान इसके नए व्हीकल की बिक्री में सालाना 17 फ़ीसदी की ग्रोथ हुई है.

वैल्युएशन - इसके स्टॉक की वैल्यू क्रमशः 32.8 और 3.3 गुना के P/E और P/B पर है, जबकि इसके समकक्षों (peers) (लैंडमार्क कार्स) का मीडियन और औसत क्रमशः 43.0 और 5.7 गुना है.

ओवरव्यू - कंपनी को पिछले चार साल में देश के पैसेंजर और कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में बढ़ती ग्रोथ से फ़ायदा हुआ है. देश के कुछ ख़ास ऑटोमोबाइल प्लेयर्स को सर्विस देकर इस कंपनी ने अपना मुनाफ़ा बनाया है.

Popular Vehicles & Services के बारे में

पॉपुलर व्हीकल्स एंड सर्विसेज़ भारत में कई तरह के ऑटोमोबाइल OEMs (ओरिज़िनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चर) की डीलर है. 31 दिसंबर 2023 तक, इसने 61 शोरूम, 133 सेल आउटलेट और बुकिंग ऑफ़िस, 32 प्री ओन्ड व्हीकल आउटलेट, 139 सर्विस सेंटर, 43 रीटेल आउटलेट और 24 वेरहाउस हैं. ये ख़ास तौर से 4 बिज़नेस सेगमेंट को ऑपरेट करती है.

  • लक्ज़री व्हीकल के पैसेंजर व्हीकल ने FY23 के रेवेन्यू में 62 फ़ीसदी का योगदान दिया है.
  • कमर्शियल व्हीकल का योगदान 32 फ़ीसदी रहा है.
  • इलेक्ट्रिक दोपहिया और तिपहिया व्हीकल का योगदान 1 फ़ीसदी रहा है.
  • सर्विस और रिपेर के साथ और दूसरी चीजों को मिलाकर 5 फ़ीसदी का योगदान दिया है.

कंपनी कई तरह के OEMs, जैसे कि मारुति सुजुकी, होंडा कार्स, जगुआर लैंड रोवर इंडिया, टाटा मोटर्स (कमर्शियल सेगमेंट), पियाजियो और एथर के लिए डीलरशिप ऑपरेट करती है.

ये भी पढ़िए- एक ऐसा फ़ंड जिससे IPO में निवेश सही लग सकता है

Popular Vehicles & Services की ताक़त

  • FY23 में (वॉल्यूम के मामले में) ये कंपनी भारत में मारुति सुजुकी की सातवीं सबसे बड़ी पैसेंजर व्हीकल डीलर है.

Popular Vehicles & Services की कमज़ोरियां

  • मारुति सुजुकी और टाटा मोटर्स पर ये काफ़ी ज़्यादा निर्भर है. FY23 में बेचे गए वाहनों में इन्होंने 86.4% और रेवेन्यू में 80.7% का योगदान दिया.

  • इस इंडस्ट्री में भारी कॉम्पिटीशन और साइक्लिकल है.

Popular Vehicles & Services IPO की डिटेल

IPO डिटेल

कुल IPO साइज़ (करोड़ ₹) 602
ऑफ़र फ़ॉर सेल (करोड़ ₹) 352
नए इशू (करोड़ ₹) 250
प्राइस बैंड (₹) 280-295
सब्स्क्रिप्शन डेट 12 मार्च से 14 मार्च 2024 तक
उद्देश्य कर्ज़ चुकाने के लिए

Popular Vehicles & Services IPO के बाद

IPO के बाद

मार्केट कैप (करोड़ ₹) 2,100
नेट वर्थ (करोड़ ₹) 634
प्रमोटर होल्डिंग (%) 61.2
प्राइस/ अर्निंग रेशियो (P/E) 32.8
प्राइस/ बुक रेशियो (P/B) 3.3
Popular Vehicles & Services की फ़ाइनेंशियल हिस्ट्री

फ़ाइनेंशियल हिस्ट्री

फ़ाइनेंशियल्स 2 ईयर ग्रोथ (% pa) 6M सितंबर 2023 FY23 FY22 FY21
रेवेन्यू (करोड़ ₹) 29.8 2,835 4,875 3,466 2,894
EBIT (करोड़ ₹) 33.9 87 138 91 77
PAT (करोड़ ₹) 41.4 40 64 34 32
नेट वर्थ (करोड़ ₹) 384 343 280 246
कुल क़र्ज़ 1,240 938 756 650
EBIT यानी ब्याज और टैक्स से पहले की कमाई
PAT यानी टैक्स के बाद का मुनाफ़ा
Popular Vehicles & Services के अहम रेशियो

अहम रेशियो

रेशियो 3 साल का औसत (%) 6M सितंबर 2023 FY23 FY22 FY21
ROE (%) 14.6 10.4 18.7 12 13.2
ROCE (%) 17.4 8.8 18.3 16.8 17.1
EBIT मार्जिन (%) 2.7 3.1 2.8 2.6 2.6
डेट-टू-इक्विटी - 3.2 2.7 2.7 2.6
ROE यानी इक्विटी पर रिटर्न
ROCE यानी लगाई गई कैपिटल पर रिटर्न
रिस्क रिपोर्ट

कंपनी और बिज़नस

क्या पिछले 12 महीनों में Popular Vehicles & Services की अर्निंग्स बिफ़ोर टैक्स ₹50 करोड़ से ज़्यादा है?
हां, इसका FY23 में टैक्स से पहले का मुनाफ़ा ₹85 करोड़ है.

क्या Popular Vehicles & Services अपना बिज़नस बढ़ा पाएगी?
हां, पैसेंजर और कमर्शियल व्हीकल की बढ़ती मांग से इसकी ग्रोथ को एक गति मिलेगी. इसके अलावा, इसके क्लाइंट लिस्ट में दो बड़े ऑटोमोबाइल प्लेयर्स का होना इसके लिए एक बड़ा प्लस पॉइंट है.

क्या Popular Vehicles & Services के पास क्लाइंट्स को जोड़े रखने के लिए जाना पहचाना ब्रांड है?
हां, FY23 में, ये भारत में मारुति सुजुकी के लिए सातवीं सबसे बड़ी पैसेंजर व्हीकल डीलर थी. (वॉल्यूम के मामले में). इसके अलावा, ये टाटा मोटर्स के लिए चौथी सबसे बड़ी कमर्शियल व्हीकल डीलर थी. (वॉल्यूम के मामले में).

क्या कंपनी के पास भरोसेमंद सुरक्षा घेरा (credible moat) है?
नहीं, ये कंपनी भारी कॉम्पिटीशन वाले माहौल में काम करती है.

मैनेजमेंट

क्या कंपनी के संस्थापकों में से किसी के पास अभी भी कंपनी में कम से कम 5 फ़ीसदी हिस्सेदारी है? या क्या प्रमोटर्स के पास कंपनी में 25 फ़ीसदी से ज़्यादा हिस्सेदारी है?
हां. IPO के बाद प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 61.2 फ़ीसदी होगी.

क्या टॉप 3 मैनेजरों के पास Popular Vehicles & Services में 15 साल से ज़्यादा का लीडरशिप अनुभव है?
हां, फ्रांसिस के पॉल, डायरेक्टर सं 1983 से इस कंपनी से जुड़े हुए हैं.

क्या मैनेजमेंट भरोसेमंद है? क्या ये अपने खुलासों में ट्रांसपरेंट है, जो SEBI गाइडलाइंस के अनुरूप है?
हां. इससे इतर सुझाव देने के लिए कोई जानकारी नहीं है.

क्या कंपनी की अकाउंटिंग पॉलिसी टिकाऊ है?
हां. इससे इतर सुझाव देने के लिए कोई जानकारी नहीं है.

क्या कंपनी के किसी प्रमोटर ने अपने शेयर गिरवी नहीं रखे हैं?
हां, फ़िलहाल प्रमोटरों द्वारा कोई शेयर गिरवी नहीं रखा गया है.

ये भी पढ़िए- क्या IPO के लिए इस होड़ में फंसना चाहिए?

फ़ाइनेंशियल

क्या कंपनी ने इक्विटी पर वर्तमान और तीन साल का औसत रिटर्न 15 फ़ीसदी से ज़्यादा और लगाई गई कैपिटल पर 18 फ़़ीसदी से ज़्यादा रिटर्न कमाया?
नहीं, इसका तीन साल का औसत ROE और ROCE क्रमशः 14.6 और 17.4 फ़ीसदी है. इसका FY23 ROE और ROCE क्रमशः 18.7 और 18.3 फ़ीसदी था.

क्या पिछले तीन साल के दौरान कंपनी का ऑपरेटिंग कैश-फ़्लो पॉज़िटिव था?
हां, इसने पिछले 3 फ़ाइनेंशियल ईयर के ऑपरेशन से पॉज़िटिव कैशफ़्लो दर्ज किया है.

क्या कंपनी का नेट डेट टू इक्विटी रेशियो एक से कम है?
नहीं, 30 सितंबर, 2023 तक इसका नेट डेट टू इक्विटी रेशियो 3.1 गुना था.

क्या Popular Vehicles & Services रोज़मर्रा के मामलों के लिए बड़ी वर्किंग कैपिटल पर निर्भरता से मुक्त है?
नहीं, हालांकि ये एक लाभदायक व्यवसाय है, इसकी इन्वेंट्री को फ़ंड देने के लिए इसके पास बड़े अमाउंट में डेट है और आने वाले समय में भी इसकी ज़रूरत जारी रह सकती है.

क्या कंपनी अगले तीन सालों में बाहरी फ़ंडिंग पर निर्भर हुए बिना अपना क़ारोबार चला सकती है?
नहीं, कंपनी का विस्तार करने और नई इन्वेंट्री खरीदने के लिए ज़्यादा पैसों की ज़रूरत है और इश्यू से मिले पैसों का इस्तेमाल ज़्यादातर कर्ज़ चुकाने के लिए किया जाएगा, इसलिए भविष्य में उसे उधार लेना पड़ सकता है.

क्या Popular Vehicles & Services बड़ी आकस्मिक देनदारियों से मुक्त है?
हां, 30 सितंबर, 2023 तक इक्विटी के प्रतिशत के रूप में इसकी आकस्मिक देनदारियां 8.0 फ़ीसदी थीं.

वैल्युएशन

क्या स्टॉक अपनी एंटरप्राइज़ वैल्यू पर 8 फ़ीसदी से ज़्यादा की ऑपरेटिंग अर्निंग यील्ड देता है?
नहीं, स्टॉक अपने एंटरप्राइज़ वैल्यू पर 4.6 फ़ीसदी पर ऑपरेटिंग अर्निंग यील्ड प्रदान करेगा.

क्या स्टॉक का P/E उसकी जैसी दूसरी कंपनियों के औसत से कम है?
हां, स्टॉक का P/E रेशियो 32.8 गुना है, जबकि इसके समकक्ष (peers) का लेवेल 43.0 गुना है.

क्या स्टॉक की प्राइस टू बुक (P/B) वैल्यू उसकी जैसी दूसरी कंपनियों के औसत से कम है?
हां, इसके स्टॉक की वैल्यू इसके समकक्ष (peers) लेवेल 5.7 गुना की तुलना में 3.3 गुना के प्राइस टू बुक रेशियो पर है.

डिस्क्लेमर: ये लेख/पोस्ट स्टॉक पर जानकारी देने के लिए है, इसे हमारी सलाह न समझें.

ये भी पढ़िए- 'Growth' vs 'Value' funds: इनमें कौन बेहतर है?

धनक साप्ताहिक

बचत और निवेश करने वालों के लिए फ़्री न्यूज़लेटर


दूसरी कैटेगरी