IPO अनालेसिस

IPO: मुक्का प्रोटीन्स

Mukka Proteins के इशू में निवेश करना है तो आपको ये बातें जाननी चाहिए.

Mukka Proteins IPO Is Mukka Proteins IPO: Everything you need to know | Value Researchit right to invest in this Issue?

फ़िश प्रोटीन से जुड़े प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी, मुक्का प्रोटीन्स ने 29 फ़रवरी 2024 को अपना IPO लॉन्च कर दिया है. हम यहां कंपनी की क्षमताओं, कमज़ोरियों और ग्रोथ की संभावनाओं के बारे में बता रहे हैं, जिससे निवेशकों को सही फ़ैसला लेने में मदद मिलेगी.

एक नज़र में IPO

क्वालिटी - इसका तीन साल का औसत ROE और ROCE 28 और 12 फ़ीसदी रहा है. हालांकि इसने FY23 के ऑपरेशन से निगेटिव कैश फ़्लो दर्ज किया है.

ग्रोथ- FY21-23 के बीच इसका रेवेन्यू सालाना 40 फ़ीसदी बढ़ा. इस पीरियड के दौरान इसके प्रॉफ़िट आफ्टर टैक्स में सालाना 122 फ़ीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. वहीं, इसी पीरियड में ट्रेड रिसीवेबल्स में सालाना 54 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

वैल्युएशन - स्टॉक की वैल्यू क्रमशः 19.1 और 2.1 गुना P/E और P/B पर है. इस तरह के बिज़नस में इसका कोई भी समकक्ष (peers) लिस्टेड नहीं है.

मोटे तौर पर - फ़ीड इंडस्ट्री से फ़िश प्रोटीन प्रोडक्ट्स की बढ़ती मांग से आने वाले सालों में इसकी ग्रोथ को गति मिलनी चाहिए. इसके अलावा, ओमेगा-3 गोलियों (pills) जैसे फ़िश ऑइल से बने फ़ार्मास्युटिकल प्रोडक्ट्स की भी काफ़ी मांग है. एक्वाकल्चर और फ़िशरी इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लक्ष्य को सरकारी पहल से भी मदद मिलनी चाहिए. हालांकि, ज़्यादा क़र्ज़ और वर्किंग कैपिटल की ज़रूरतों पर नज़र बनी रहेगी.

Mukka Proteins के बारे में

मुक्का प्रोटीन्स एक फ़िश प्रोटीन से जुड़े प्रोडक्ट्स बनाने और सप्लाई करने वाली कंपनी है. इसका इस्तेमाल एक्वा फ़ीड, पोल्ट्री फ़ीड, पेट फूड, फ़ार्मास्युटिकल प्रोडक्ट बनाने के लिए किया जाता है.

ये भी पढ़िए- एक ऐसा फ़ंड जिससे IPO में निवेश सही लग सकता है

Mukka Proteins की ताक़त

हाई मार्केट शेयर: CRISIL रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय फ़िश फूड और फ़िश ऑयल इंडस्ट्री में इसका मार्केट शेयर लगभग 25 से 30% तक है.

वैश्विक पहुंचः इसका ऑपरेशन बहरीन, बांग्लादेश, इंडोनेशिया और मलेशिया जैसे 10 से ज़्यादा देशों में है. FY23 के दौरान, कंपनी के रेवेन्यू में एक्सपोर्ट की हिस्सेदारी 58 फ़ीसदी तक थी.

क्लाइंट्स के साथ बेहतर संबंधः 30 सितंबर, 2023 तक, इसने रेवेन्यू में 50% से ज़्यादा योगदान कंपनी पांच साल से ज़्यादा समय से जुड़े कस्टमर्स का रहा. खास तौर पर, इस कंपनी का सबसे बड़ा कस्टमर 10 साल से ज़्यादा समय से इसके साथ जुड़ा हुआ है.

Exicom Tele-Systems की कमज़ोरियां

सख्त नियम : ये पर्यावरण संबंधी चिंताओं से जुड़े इसे कई नियमों का पालन करना पड़ता है.

ज़्यादा वर्किंग कैपिटल की ज़रूरत.

Mukka Proteins IPO की डिटेल

IPO डिटेल

कुल IPO साइज़ (करोड़ ₹) 224
ऑफ़र फ़ॉर सेल (करोड़ ₹) 0
नए इशू (करोड़ ₹) 224
प्राइस बैंड (₹) 26 - 28
सब्स्क्रिप्शन डेट 29 फ़रवरी से 4 मार्च 2024
उद्देश्य वर्किंग कैपिटल की ज़रूरत, कॉर्पोरेट की और दूसरी जरूरतें

Mukka Proteins IPO के बाद

IPO के बाद

मार्केट कैप (करोड़ ₹) 840
नेट वर्थ (करोड़ ₹) 404
प्रमोटर होल्डिंग (%) 62.5
प्राइस/ अर्निंग रेशियो (P/E) 19.1
प्राइस/ बुक रेशियो (P/B) 2.1

Mukka Proteins की फ़ाइनेंशियल हिस्ट्री

फ़ाइनेंशियल हिस्ट्री

फ़ाइनेंशियल्स 2 ईयर ग्रोथ (% pa) 6M सितंबर 2024 FY23 FY22 FY21
रेवेन्यू (करोड़ ₹) 39.6 606 1177 771 604
EBIT (करोड़ ₹) 129.9 49 74 39 14
PAT (करोड़ ₹) 121.1 32 44 24 9
नेट वर्थ (करोड़ ₹) 180 148 98 66
कुल क़र्ज़ 325 262 175 159
EBIT यानी ब्याज और टैक्स से पहले की कमाई
PAT यानी टैक्स के बाद का मुनाफ़ा

Mukka Proteins के अहम रेशियो

अहम रेशियो

रेशियो 3 साल का औसत (%) 6M सितंबर 2024 FY23 FY22 FY21
ROE (%) 28 19.2 36.7 30 17.4
ROCE (%) 12.4 9.4 17.6 13.9 5.9
EBIT मार्जिन (%) 4.5 8 6.3 5.1 2.2
डेट-टू-इक्विटी 2 1.8 1.8 1.8 2.4
ROE यानी इक्विटी पर रिटर्न
ROCE यानी लगाई गई कैपिटल पर रिटर्न

रिस्क रिपोर्ट

कंपनी और बिज़नस

क्या पिछले 12 महीनों में Mukka Proteins की (अर्निंग्स बिफ़ोर टैक्स) ₹50 करोड़ से ज़्यादा है?
हाँ. इसका FY23 अर्निंग्स बिफ़ोर टैक्स 64 करोड़ रुपये था.

क्या Mukka Proteins अपना बिज़नस बढ़ा पाएगी?
फ़ीड इंडस्ट्री से फ़िश प्रोटीन प्रोडक्ट्स की बढ़ती मांग से आने वाले सालों में इसे ग्रोथ मिल सकती है. इसके अलावा, एक्वाकल्चर और फ़िशरी इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लक्ष्य को सरकारी पहलों से भी मदद मिलनी चाहिए.

क्या Mukka Proteins के पास क्लाइंट्स को जोड़े रखने के लिए जाने पहचाने ब्रांड हैं?
हाँ, इसने अपने कई क्लाइंट्स के साथ लॉन्ग-टर्म के लिए अच्छे संबंध बनाए रखे हैं.

क्या कंपनी के पास भरोसेमंद सुरक्षा घेरा (credible moat) है?
नहीं, इसे डोमेस्टिक और अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में कॉम्पिटीशन का सामना करना पड़ता है.

मैनेजमेंट

क्या कंपनी के संस्थापकों में से किसी के पास अभी भी कंपनी में कम से कम 5 फ़ीसदी हिस्सेदारी है? या क्या प्रमोटर्स के पास कंपनी में 25 फ़ीसदी से ज़्यादा हिस्सेदारी है?
हां. IPO के बाद प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 62.5 फ़ीसदी होगी.

क्या टॉप 3 मैनेजरों के पास Mukka Proteins में 15 साल से ज़्यादा का लीडरशिप अनुभव है?
हाँ. MD और CEO कलंदन मोहम्मद हारिस कंपनी की शुरुआत से ही जुड़े हुए हैं.

क्या मैनेजमेंट भरोसेमंद है? क्या ये अपने खुलासों में ट्रांसपरेंट है, जो SEBI गाइडलाइंस के अनुरूप है?
हां. इससे इतर सुझाव देने के लिए कोई जानकारी नहीं है.

क्या कंपनी की अकाउंटिंग पॉलिसी टिकाऊ है?
हां. इससे इतर सुझाव देने के लिए कोई जानकारी नहीं है.

क्या कंपनी के किसी प्रमोटर ने अपने शेयर गिरवी नहीं रखे हैं?
मुक्का प्रोटीन्स के कोई भी शेयर गिरवी नहीं रखे है.

ये भी पढ़िए- क्या IPO के लिए इस होड़ में फंसना चाहिए?

फ़ाइनेंशियल

क्या कंपनी ने इक्विटी पर वर्तमान और तीन साल का औसत रिटर्न 15 फ़ीसदी से ज़्यादा और लगाई गई कैपिटल पर 18 फ़़ीसदी से ज़्यादा रिटर्न कमाया?
नहीं, इसका तीन साल का औसत ROE और ROCE 28 फ़ीसदी और 12 फ़ीसदी है. सितंबर 2023 को समाप्त 12 महीनों में इसका ROE और ROCE क्रमशः 37 फ़ीसदी और 18 फ़ीसदी था.

क्या पिछले तीन साल के दौरान कंपनी का ऑपरेटिंग कैश फ़्लो पॉज़िटिव था?
नहीं, इसने FY23 में ऑपरेशन से इसने निगेटिव कैश फ़्लो की सूचना दी

क्या कंपनी का नेट डेट टू इक्विटी रेशियो एक से कम है?
नहीं. 30 सितंबर, 2023 तक इसका नेट डेट-टू-इक्विटी रेशियो 1.7 गुना था.

क्या Mukka Proteins रोज़मर्रा के मामलों के लिए बड़ी कार्यशील पूंजी (वर्किंग कैपिटल) पर निर्भरता से मुक्त है?
नहीं, हाई इन्वेंट्री और रिसीवेबल्स के कारण ज़्यादा वर्किंग कैपिटल की ज़रूरत हैं.

क्या कंपनी अगले तीन सालों में बाहरी फ़ंडिंग पर निर्भर हुए बिना अपना क़ारोबार चला सकती है?
हां. ये एक फ़ायदे में रहने वाला बिज़नस है, और IPO से जुटाया गया ज़्यादातर पैसा वर्किंग कैपिटल ज़रूरतों पर खर्च किया जाएगा.

क्या Mukka Protein बड़ी आकस्मिक देनदारियों से मुक्त है?
नहीं, इक्विटी के प्रतिशत के रूप में आकस्मिक देनदारियां 30 सितंबर, 2023 तक 36.1 प्रतिशत थीं.

वैल्युएशन

क्या स्टॉक अपनी एंटरप्राइज़ वैल्यू पर 8 फ़ीसदी से ज़्यादा की ऑपरेटिंग अर्निंग यील्ड देता है?
नहीं, स्टॉक अपनी एंटरप्राइज वैल्यू पर 6.9 फ़ीसदी ऑपरेटिंग अर्निंग्स यील्ड देता है.

क्या स्टॉक का P/E उसकी जैसी दूसरी कंपनियों के औसत से कम है?
N/A. स्टॉक की वैल्यू 19.1 गुना के P/E रेशियो पर लगाई गई है. इस तरह के बिज़नेस में कोई भी लिस्टेड समकक्ष (peers) नहीं है.

क्या स्टॉक की प्राइस टू बुक (PB) वैल्यू उसकी जैसी दूसरी कंपनियों के औसत से कम है?
N/A. स्टॉक की वैल्यू 2.1 गुना के प्राइस टू बुक रेशियो पर लगाई गई है. इस तरह के बिज़नस में कोई भी लिस्टेड समकक्ष (peers) नहीं है.

डिस्क्लेमर: ये स्टॉक रेकमंडेशन नहीं है. निवेश करने से पहले उचित छानबीन कर लें.


दूसरी कैटेगरी