फंड वायर

स्मॉल-कैप फ़ंड्स जिनका काफ़ी पैसा लार्ज-कैप में लगा है

ज़्यादातर स्‍मॉल-कैप फ़ंड्स सिर्फ़ 5 प्रतिशत रक़म लार्ज-कैप में निवेश कर रहे हैं, लेकिन इसके अपवाद भी हैं.

स्मॉल-कैप फ़ंड्स जिनका काफ़ी पैसा लार्ज-कैप में लगा है

“रिस्‍क है तो इश्‍क है” ये डायलॉग था एक हिट रहे टीवी शो, ‘स्‍कैम-1992’ का जो बहुत लोकप्रिय हुआ था. ये जुमला एक औसत स्‍मॉल-कैप फ़ंड निवेशक पर भी बहुत सटीक बैठता है.

स्‍मॉल-कैप म्‍यूचुअल फ़ंड्स की रणनीति ज़्यादा रिस्‍क और ज़्यादा रिवार्ड वाली होती है. ये फ़ंड्स कम-से-कम 65 प्रतिशत रक़म स्‍मॉल-कैप स्‍टॉक्‍स में निवेश करते हैं. लेकिन ये भी एक सच्चाई है कि ये अपेक्षाकृत सुरक्षित लार्ज-कैप में भी निवेश करते हैं और ये बात कुछ लोगों को चौंका सकती है.

ये भी पढ़िए- लार्ज-कैप जिनका काफ़ी पैसा मिड-कैप फ़ंड में लगा है

और इससे भी ज़्यादा चौंकाने वाली बात ये हो सकती है कि कुछ स्‍मॉल-कैप फ़ंड्स लार्ज-कैप में आमतौर पर जो चलन है उससे कहीं ज्‍यादा निवेश करते हैं, आप इसे नीचे दिए ग्राफ़ में देख सकते हैं.


दूसरी कैटेगरी