धनक से पूछें

मुझे अपना रिटायरमेंट कॉर्पस कहां निवेश करना चाहिए ?

धीरेंद्र कुमार रिटायरमेंट के बाद कॉर्पस का बडा हिस्‍सा इक्विटी में निवेश करने का सुझाव दे रहे हैं

मुझे अपना रिटायरमेंट कॉर्पस कहां निवेश करना चाहिए ?

मैं रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी हूं और में रिटायरमेंट कॉर्पस के लिए निवेश करना चाहता हूं। मेरा निवेश लंबी अवधि के लिए होगा क्‍योंकि मुझे अगले 10 15 साल तक पैसों की जरूरत नहीं पड़ेगी। इस अवधि में पेंशन मेरी जरूरतें पूरी करने के लिए काफी होगी। इसके बारे में सुझाव दें
मनोहर

आपका निवेश लंबी अवधि के लिए होगा और आपको लंबे समय तक इस निवेश से इनकम की जरूरत नहीं होगी। ऐसे में आपके पास अपना अलॉकेशन तय करने को लेकर ज्‍यादा स्‍वतंत्रता होगी। चूंकि आप एक बड़ा कॉर्पस बनाना चाहते हें ऐसे में 50:50 डेट टू इक्विटी अलॉकेशन सही रहेगा।

फिक्‍स्ड इनकम अलॉकेशन के लिए आप 15 लाख रुपए सीनियर सिटीजन सेविंग स्‍कीम में लगा सकते हैं। इस स्‍कीम में निवेश की सीमा भी 15 लाख रुपए है। इससे आपको नियमित इनकम भी मिल सकती है। वैसे आपको निय‍मित इनकम की जरूरत नहीं है। ऐसे में आप इसे कहीं और रीइन्‍वेस्‍ट भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप अकेले 4.5 लाख लाख रुपए या संयुक्‍त रूप से 9 लाख रुपए पोस्‍ट ऑफिस मंथली इनकम स्‍कीम में निवेश कर सकते हैं। ये सभी स्‍कीम सरकारी हैं। ऐसे में आपका निवेश काफी हद तक सुरक्षित है। इसके अलावा इन स्‍कीमों में निवेश से आपको ठीक ठाक रिटर्न भी मिल जाएगा। अगर अब भी फिक्‍स्ड इनकम ऑप्‍शन में निवेश के लिए आपके पास रकम बचती है तो आप शार्ट ड्यूरेशन फंड में निवेश पर विचार कर सकते हैं।

बाकी रकम आप कुछ अच्‍छे मल्‍टी कैप फंड में निवेश कर सकते हैं। यह पैसा आपने कड़ी मेहनत से कमाया है। ऐसे में सुरक्षा बेहद अहम है। ऐसे में आपको इस रकम एक बार में निवेश करने के बजाए दो साल की अवधि में फैला कर निवेश करना चाहिए। ऐसा करने से यह खतरा नहीं रहेगा कि आपकी रकम ऐसे समय निवेश हो जब बाजार अपने उच्‍चतम स्‍तर पर हो।

इसके अलावा आपको अपने पोर्टफोलियो का समय समय पर रीबैलेंसिंग करना चाहिए। अगर आपका 50 फीसदी फिक्‍स्ड इनकम निवेश घट कर 45 फीसदी रह गया है तो आपको इक्विटी से पैसा निकाल कर डेट में लगा देना चाहिए। इस तरह से आप ओरिजनल असेट अलॉकेशन हासिल कर सकते हैं। इस तरह से सालाना रीबैलेंसिंग से आपको रिटर्न बढ़ाने में मदद मिलेगी।

क्या आपके मन में कोई और सवाल है? हमसे पूछिए

धनक साप्ताहिक

बचत और निवेश करने वालों के लिए फ़्री न्यूज़लेटर


दूसरी कैटेगरी